C h atma - Mandve tale garib ke

हो साथ अगर पहलू में इक मस्त-ए-शबाब
इक जाम हो और हाथ में शेरों की क़िताब
इक साज़ हो और साज़ पे गाती हो हसीना
बन जाए ये वीराना बहारों का जवाब
बन जाए ये वीर...

Lyrics licensed by LyricFind