S.P. Balasubrahmanyam - धिकताना

ल ल ला ल ल ला
ल ल ला ल ल ला
धिक् तना तिक् तना धिक् तना
धिक् धिक् तना तिक् तना धिक् तना
धिक् तना तिक् तना धिक् तना
धिक् धिक् तना तिक् तना धिक् तना
भाभी तुम खुशियों का खज़ाना
धिक् तना तिक् तना धिक् तना
धिक् धिक् तना तिक् तना धिक् तना
धिक् तना तिक् तना धिक् तना
धिक् धिक् तना तिक् तना धिक् तना

पेहली किरण जब से उगे
भाभी मेरी तब से जगे
सबका पूरा ध्यान धरे वो
शाम ढले तक काम करे
पेहली किरण जब से उगे
भाभी मेरी तब से जगे
कल तक रहा इस छाव से
मेरा बचपन अन्जाना
धिक् तना तिक् तना धिक् तना
हे धिक् तना तिक् तना धिक् तना
धिक् तना तिक् तना धिक् तना
हे धिक् तना तिक् तना धिक् तना


होगी मेरी शादी कभी
केहते हैं ये मुझसे सभी
ख़ुद अपनी देवरानी चुनना
बात किसी की मत सुनना
होगी मेरी शादी कभी
केहते हैं ये मुझसे सभी
तुम ढूँढ के रंग रूप में
अपनी परछाई लाना
धिक् तना तिक् तना धिक् तना
धिक् धिक् तना तिक् तना धिक् तना
धिक् तना तिक् तना धिक् तना
धिक् धिक् तना तिक् तना धिक् तना

कब तक रहूँ सबसे छोटा
आये कोई मुझसे छोटा
हँसता बोलता कोई खिलौना
अब इन बाहों को दो ना
कब तक रहूँ सबसे छोटा
आये कोई मुझसे छोटा
माँगे तुमसे घर का आँगन
प्यारा प्यारा नज़राना
धिक् तना तिक् तना धिक् तना
धिक् धिक् तना तिक् तना धिक् तना हे
धिक् तना तिक् तना धिक् तना
धिक् धिक् तना तिक् तना धिक् तना
भाभी तुम खुशियों का खज़ाना
धिक् तना तिक् तना धिक् तना
धिक् धिक् तना तिक् तना धिक् तना
ल ल ला रा ल ल ला रा हे ल ल ला रा ल ल ला रा

Lyrics licensed by LyricFind